Tuesday, September 11, 2018

कपास- किस्मे


कपास में सुण्डियों (अमरिकन सुण्डी सुण्डी और गुलाबी सुण्डी) तम्बाकू की इल्ली (स्पोडोप्टेरा) को नियंत्रित करने की अन्तः निर्मित तकनीक क्षमता है । पौंधो में दिन रात गोलक शलभ सुण्डी और स्पोडोप्टेरा जिसे बालवर्य कहते हैरोकने और मोत देने की क्षमता वाली विषाकता पैदा की जाती है । कपास सुण्डी स्पोडोप्टेरा जैसे पत्ते, डेण्डू एवं फुलपुड़ी को खाती है वैसे ही निष्क्रिय हो जाती है वे खाना बन्द कर देती है 72 घण्टे के भीतर के लिए भोजन के मर जाती है । जब आर्थिक दहलीज स्तर (ई.टी.एल.) पर ये कपास की सुण्डियो और स्पोडोप्टेरा नुकसान करने लगती है । इनको खत्म करना आवष्यक है । 

आर.सी.एच. बी.टी. - 2 स्पोडोप्टेरा के छोटे लार्वा को प्रभावषाली रोकथाम करता है । अगर कीटो का भारी हमला हो, तो फसलों पर सिफारिषी कीटनाषको का छिड़काव करके उनकी रक्षा की जा सकती है ।

Previous Post
Next Post